भारत "मेक इन इंडिया" के तहत तेजी से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ता जा रहा है।

भारत "मेक इन इंडिया" के तहत तेजी से आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ता जा रहा है।

इसका अनुमान आप इस बात से लगा सकते हैं कि भारत असॉल्ट रायफल AK-203 को खुद से बनाया है।

भारत अब खतरनाक असॉल्ट रायफल AK-203 खुद से निर्माण कर रहा है।

असॉल्ट रायफल AK 203 को रूस की सहायता से UP के अमेठी में निर्माण किया जा रहा है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, इंडियन आर्मी को AK 203 की पहली खेप प्रदान कर चुके है।

यह निर्माण प्रक्रिया अमेठी के हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) कोरवा परिसर में बनी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री मे किया जा रहा है।

सरकार द्वारा फिलहाल 5 लाख असॉल्ट रायफल AK 203 के निर्माण का आदेश मिला है।

यह असॉल्ट राइफल कलाश्निकोव सीरीज की सबसे आधुनिक राइफल है

7.62 X 39mm कैलिबर की AK-203 राइफल्स सेना में इंसास राइफल्स की जगह लेंगी।

AK-203 राइफल्स, इंसास रायफल से ज्यादा आधुनिक और घातक है।।

AK-203 राइफल्स, इंसास रायफल से ज्यादा आधुनिक और घातक है।।

AK 203 असॉल्ट रायफल की प्रभावी रेंज 300 मीटर है।ये आर्मी ऑपरेशन के लिए बहुत प्रभावी होगी।।