झारखंड के 100 से अधिक सरकारी स्कूल के नाम में उर्दू शब्द जोड़ दिया गया है।

इन सारे सरकारी स्कूलों में रविवार के जगह शुक्रवार को छुट्टी दी जा रही है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के गृह जिला दुमका में 33 से ज्यादा स्कूलों के नाम में उर्दू शब्द जोड़ा गया है।

सरकार और प्रशासन को पता ही नही है कि रविवार के जगह शुक्रवार को कब से छुट्टी दिया जा रहा है।

झारखंड राज्य के जामताड़ा में भी इसी प्रकार की स्थिति है।

सप्ताह की शुरुआत शनिवार से होती है और (जुमे) शुक्रवार को छुट्टी दी जाती है।

झारखंड के गढ़वा में भी मुस्लिमो द्वारा प्रिंसिपल पर दवाब बनाकर प्रार्थना चेंज करवा दिया गया था।

कांग्रेस शासन में किस प्रकार से एक विशेष समुदाय को छूट और बढ़ावा दिया जाता हैं, अनुमान लगा सकते है।

सारे कांग्रेस शासित राज्यो में विशेष समुदाय को छूट और बहुसंख्यक के ऊपर दबाव बनाया जाता है ।

जो लोग संविधान की अहवेलना करते है।अपनी मनमानी करते हैं।उन्हे सजा मिलनी चाहिए।

पूरा भारत एक हिसाब विशेष समुदाय के अतिक्रमण से परेशान दिख रहा है।।

इसपर बहुसंख्यक समाज को चिंतन करना चाहिए और इस समस्या को दूर करना चाहिए, वर्ना परिणाम घातक होंगे।

सरकार को इसपर कड़ी action लेनी चाहिए वर्ना भविष्य में इसके खतरनाक परिणाम होंगे।