Skip to content

Newsbaba

पंजाब में खालिस्थानियो की खुली छूट, सरकारी बसों पर खालिस्थानी तस्वीरें

  • by

भारत का पंजाब प्रांत बहुत पहले से ही देशद्रोहियों और आतंकवादियों का गढ़ रहा है।पंजाब के विद्रोहियों को खालिस्तानी आतंकवादी के नाम से जाना जाता है।ये खालिस्थानियों का संपर्क भारत के दुश्मन देश पाकिस्तान से भी रहा है।ये पंजाब को भारत के अलग करना चाहते है।इन लोगो की अलगाववादी रुख को पाकिस्तान भड़काता रहता है ताकि भारत को कमजोर किया जा सके।इसी का परिणाम का था कि खालिस्तानी समर्थको ने इंद्रा गांधी के समय अमृतसर को अपने कब्जे में ले लिया था किंतु पूर्व प्रधानमंत्री श्री मति इंद्रा गांधी की सख्त कारवाई ने खालिस्तानी आतकवादियो के चारो खाने चित कर दिए और अमृतसर को आजाद कर लिया गया।

जगतार सिंह हवारा
जगतार सिंह हवारा

एकबार फिर खालिस्तानी गतिविधि अपने चरम की ओर बढ़ना शुरू कर दिया है।पंजाब में खुलेआम खालिस्तानी आतंकवादियों को समर्थन दिया जा रहा है।प्रमुख खालिस्तानी जनरल सिंह भिंडरावाले और बेअंत सिंह के हत्यारे जगतार सिंह हवारा की तस्वीर सरकारी बसों पर लगाया गया है।आप सरकार में “खालिस्थान की मांग और उसकी प्रचार – प्रसार” को खूब बढ़ावा मिल रहा है। जब सरकारी बसों पर लगे खालिस्तानी समर्थको की पोस्टर पर बवाल हुआ तो पेप्सी सड़क परिवहन निगम (PRTC) ने 06 जुलाई तक इस पोस्टर को हटाने का आदेश पारित किया था किंतु सारे सिख समुदाय इस आदेश के खिलाफ हो गए।दल खालसा, शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC), अकाली दल (अमृतसर) और अन्य दलों ने सरकार को चेतावनी भेजी कि अगर ऑर्डर वापस लिया जाता है तो हमलोग धरना प्रदर्शन करेंगे।

जनरल सिंह भिंडरावाले
जनरल सिंह भिंडरावाले

पंजाब की आप सरकार पोस्टर मामला को बढ़ते देख अपने कदम पीछे खींच ली है।पंजाब सड़क परिवहन निगम एक और आदेश पारित की है जिसमे कहा गया कि किसी भी व्यक्ति की धार्मिक भावना को आहत करना हमारा कोई इरादा नहीं है।हम सिख समुदाय का सम्मान करते है इसीलिए नए आदेश में पोस्टर हटाने के आर्डर को खारिज करते हैं ।इस प्रकार सरकार पंजाब सरकार खाली स्थानों की बात मान ली और अपने आदेश को वापस ले लिया।

इस प्रकार के छोटे-छोटे हरकतों से खालिस्तानी आतंकवादियों का मनोबल बढ़ता जाएगा और यदि सरकार इस पर कड़ी एक्शन नहीं लेती है तो शायद भविष्य में स्तिथि और भी खराब हो जाए और कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत पड़े लेकिन स्थिति को देखकर ऐसा नहीं लगता कि सिर्फ खालिस्तानी इस इस कार्य के लिए जिम्मेदार है। आम लोग भी इसमें Participate किए हुए हैं या तो स्वेच्छा से या गुमराह द्वारा क्योंकि पंजाब में भिंडरावाले और हवारा सिंह का फोटो आम बात हो गई है।युवा और बच्चे सभी लोग उनके पोस्टर लगे शर्ट या टी – शर्ट को पहनते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.